सीने में नज़र चुभा दी

बग़ल में ख़ंजर तो नहीं उसकी नज़र है तीखी
कुछ बोल न पाए थे सीने में नजर चुभा दी।

bagal me khanjer to nahi uski najar hai teekhi
kuch bol na paye the seene me najar chuva dii.
by – Vijaya Sharma

This post has been viewed 5,067 times

वो हर लम्हा

तुमसे जुड़ी वो हर लम्हा बसते हैं मेरी यादों में
सुनहरा पल भुल न पाया जो हमने साथ गुज़ारे थे।

tumse judi o har lamha baste hai meri yaado me
sunahara pal bhul na paya jo hamne saath gujare the.
by-Vijaya Sharma

This post has been viewed 8,630 times

पाँव न रखना आसमान में

पाँव न रखना आसमान में मेरे लिए उतरना है
कलियाँ लहराती है बाग़ों में ज़मीं पे बिखर जाती है।

paun na rakhana aasman me mere liye utarna hai
kaliyan laharati hai bagon me jamin pe bikhar jati hai
by Vijaya Sharma

This post has been viewed 7,076 times

महक रहा है चारोंओर

Mohabbat ki hai tumse
bikhar rahen hain phool isk ke
Ahasas huwa hai man ke andar
Jaise mahak raha hai Charon wor।

मोहब्बत की है तुमसे
बिखर रहे हैं फूल ईश्क के
एहसास हुवा है मन के अन्दर
जैसे महक रहा है चारों ओर।

This post has been viewed 3,694 times

हर दर्द दवा बन जाता है

जब प्यार किसी से होता है
हर दर्द दवा बन जाता है
क्या चीज मुहब्बत होती है
एक शख्स खुदा बन जाता है
ये लब चाहे खामोश रहें
आँखों से पता चल जाता है
कोई लाख छुपा ले इश्क मगर
दुनिया को पता चल जाता है
जब इश्क का जादू चलता है
सेहरा में फूल खिल जाता है
जब कोई दिवाना मचलता है
तब ताजमहल बन जाता है

This post has been viewed 6,400 times