वो थी आसमान कि चाँद

कस्तूरी थी वो महका के चली गई
उसकि खुसबु से फ़िज़ाएँ महक उठी
उस मृगनयनी को ढुढ़ु मैं दिन रात
टूटकर बिखर गया वो थी आसमान कि चाँद।

kasturi thee o mahaka ke chali gayi
uski khusbu se fijayen mahak uthi
us mrignayani ko dhunu mai din raat
tutkar bikhar gaya o thee aasman ki chaand.

by- विजया शर्मा

This post has been viewed 1,273 times

पहली फ़रियाद होती है

सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है,
आँख खुलते ही आपकी याद आती है,
खुशियों के फूल हो आपके आँचल में,
ये मेरे होंठों पे पहली फ़रियाद होती है।…

This post has been viewed 1,945 times

Yakeen

Yakeen to kar tujh bin suunaa ho jaata hu main ,
Hasrat ,daulat,izzat,sohrat sab bhool jaata hu main ,
Na jaane tere maujoodge me wo kya ruhaaniyat hai ,
Jab bhe aas paas hota hu tere duniya ke har maaya se nizaat paata hu main .
Yakeen to kar tujh bin suunaa ho jaata hu main
Bin tere patjhar ke mausam me daale pe latka sookha patta nazar aata hu main ,
Saath tere basant ritu me khilkhilate pankhudiyon sa chaa jaata hu main ,
Beintehaa koshish karta hu har din tere yaadon ko dil se nikaaal kahi door dafnaane ke,
Par har baar aadhe raah se waapas laut aata hu main .
Yakeen to kar tujh bin suuna ho jaata hu main .
Andheri raaton me taaron ke timtimaahat ke neeche aksar baith jaata hu main ,
Ek he sawaal dohrata hu khud se baar baar kya use yaad aata hu main ,
Har raat palat deta hu har ek panna tere meri mohhabat kaa,
Phir bhe na samajh paata hu ke hai wo konsa lamha jisme gunehgaar tujhe nazar aata hu main .
Yakeen to kar tujh bin suunaa ho jaata hu main
Tere us muskuraahat se apna har dard bhool jaata tha main,
Tujhe nihaarte nihaarte kayee prem kavitaayen bana jaata tha main ,
Tere jaane ke baad kalam kuch is kadar rooth se gaye hai ,
Koshish karta hu do chaar shabd likhne ke ,
Par lakeere bana dum tod jaata hu main .
Yakeen to kar tujh bin suunaa ho jaata hu main

by- Ashwyn kala

This post has been viewed 3,375 times

सिहरन सि हो जाए

ऐ मुहब्बत कि हबाआ जाना ,ईश्क में इतना रंग दो
कि बारिश लेकर आओगे तो सिहरन सी हो जाए।

aye mohabbat ki haba aajaana,isk me etna rang
do
ki barish lekar aaoge to siharan si ho jaye.
by- vijaya sharma

This post has been viewed 3,260 times

Rab ne kismat mein judai likh di

Rab ne kismat mein judai likh di,
Dil ka dard aur tanhayee likh di,
Dil toota par har tukde pe naam tha tera,
Shukr hai humari kismat mein mohabbath likh di.

रब ने किस्मत में जुदाई लिख दी,
दिल का दर्द और तन्हाई लिख दी,
दिल टूटा पर हर टुकड़े पे नाम था तेरा,
शुक्र है हमारी किस्मत में मोहब्बत लिख दी.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 5,782 times

कैसे हां में हां कर दूं ?

जो आप सुनना चाहते हैं मैं सिर्फ वही कैसे बोल दूं ।
आकलन विषय का बिना किए , अपने विचार कैसे व्यक्त कर दूं।।

आपने तो बड़ी चालाकी से विषय को मुझे समझाया ।
अपना पक्ष एन केन प्रकारेण न्यायोचित ठहराया ।।

और आप चाहते हैं कि मैं क्षण में आप की हां में हां कर दूं।
और न्याय अन्याय को अनदेखा कर आपकी बात पर सहमति कर दूं ।।

मैं जानता हूं आपका प्यार और अधिकार मुझसे यह सब करवाने के लिए सक्षम है ।
किंतु मेरे विषय ज्ञान और अपनी जवाबदारी का भी तो मुझ पर बंधन है ।।

मैं यह भी जानता हूं कि आपका लक्ष्य किसी को हानि पहुंचाना नहीं है ।
परंतु आप सहमत होंगे कि मेरा सोचना भी गलत नहीं है।।

कृपया मेरी मजबूरी का यू लाभ ना उठाइए।
छोटा हूं , कृपा करें ,,,,,,,,,,,,,,
पाप का भागीदार ना बनाइए ।।।।।।।

By: Alok Billore

This post has been viewed 4,062 times

Chalo chhodo beethi baaton ko

Kuch hasi gami ke palon ko,
naye sire se jeethe hai,
Chalo chhodo beethi baaton ko,
Kuch nayi yaadein banathe hai.

Ab tak jiye hum sabke liye,
Aao apne liye bhi jeethe hai,
Chalo chhodo beethi baaton ko,
Kuch nayi yaadein banathe hai.

Pyaar ki kurbaani de kar,
Roz til til ke hum marthe hai,
Chalo chhodo beethi baaton ko,
Kuch nayi yaadein banathe hai.

कुछ हँसी गमी के पलों को,
नए सिरे से जीतें है.
चलो छोडो बीती बातों को,
कुछ नयी यादें बनाते है.

अब तक जिए हम सबके लिए,
आओ अपने लिए भी जीते है,
चलो छोडो बीती बातों को,
कुछ नयी यादें बनाते है.

प्यार की कुबानी देकर,
रोज़ तिल तिल के हम मरते है,
चलो छोडो बीती बातों को,
कुछ नयी यादें बनाते है.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 3,823 times

Kahan se kahan le aayi zindagi

Kuyein se nikalkar khaayi mein,
Tumse bichadkar khoye hum tanhayee mein,
Kahan se kahan le aaye zindagi,
Dhoondhte hai tumhe hum apni
parchayi mein.

कुएं से निकालकर खायी में,
तुमसे बिछड़कर खोये हम तन्हाई में,
कहाँ से कहाँ ले आयी ज़िन्दगी,
ढूंढते है तुम्हे हम अपनी परछाई में.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 3,739 times

नसीब वाले बन गए………..

खुबसुरत एहसास हो गया नसीब बाले बन गए
करम अच्छे किए होंगे मुहब्बत दे दी उसने।
विजया शर्मा

khubsurat aehasas ho gaya nasib bale ban
gaye
karma acche kiye honge muhabbat de dee usne.

by- Vijaya Sharma

This post has been viewed 4,609 times