जुर्म हमें कबुल है

मोहब्बत कोई शियासत नहीं शहनशाह आके राज करे
ए तो दिल का दरबार है
अगर ए कैदखाना है तो
जु्र्म हमें कबुल है।
by- विजया शर्मा

This post has been viewed 320 times

आँखें नम हो गई

उनकी खिदमत में रात गुजारे
नासमझ बनके सोते रहे
ख़ैरात मे मोहब्बत मैंने दान दे दी
फिर भी आँखें नम हो गई।
unki khidmat me raat gujare
nasamjh banke sote rahe
khairat me mohabbat maine daan de di
phir bhi aankhe nam ho gayi.
by- Vijaya Sharma

This post has been viewed 345 times

हमें मंजुर है

ईश्क किसी कि शियासत नहीं
कोई शहनशाह आके राज करे
ए तो दिल का दरबार है
कैदखाना है त तो सज़ा हमें मंजुर है।

isk kisi ki shiyashat nahin
koe shanshah aak raaj kare
ye to dil ka darbar hai
kaidkhana hai to saja hame manjur hai
by- Vijaya Sharma

This post has been viewed 330 times

yaaden

#पुरानी तस्वीरों को देखकर पुरानी बातें याद आ जाती है ।।
#डूबी हुई लब्जे फिर से उभर आती है ।
#मन तो होता है फिर से भूतकाल में जाने का ।
#पर गुजरी हुई वक़्त कभी वापिस नहीं आती है ।।
(*#By अजीत*#)

This post has been viewed 1,846 times

Ho ke kismat se majboor

Zindagi bhar saath chalenge
Dilki yeh aarzoo thi,
Saath tho challe jaroor
Ho ke kismat se majboor,
Nadi ke do kinaare ki tarah,
Saath saath bhi lekin bahut door.

ज़िन्दगी भर साथ चलेंगे
दिलकी यह आरज़ू थी,
साथ थो चले जरूर
होके किस्मत से मजबूर,
नदी के दो किनारे की तरह,
साथ साथ भी लेकिन बहुत दूर.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 2,621 times

Chal aaj kuch pal tujhe bhula ke

Chal aaj kuch pal tujhe bhula ke
Rab ki haseenn duniya dekh le,
Chal aaj kuch pal tujhe bhula ke
Rab ki haseenn duniya dekh le,
Tujh mein khokar tho
Hum sab kuch bhool gaye the.

चल आज कुछ पल तुझे भुलाके,
रब की हसींन दुनिता देख लें,
चल आज कुछ पल तुझे भुलाके,
रब की हसींन दुनिता देख लें,
तुझ में खोकर तो,
हम सब कुछ भूल गए थे.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 2,714 times

Aazma Lo Jahan आज़मा लो जहाँ

Apno se naraz ho kar jaaoge kahan?
Apna basera tum banaaoge kahan?
Jo andhere mein hai woh apne nahi hain,
yakin naa ho tho aazma lo jahan.

अपनों से नाराज़ हो कर जाओगे कहाँ?
अपना बसेरा तुम बनाओगे कहाँ?
जो अँधेरे में हैं वह अपने नहीं हैं,
यकीन ना हो थो आज़मा लो जहाँ.

–By: Rosy Chopra

This post has been viewed 2,850 times

Dhoondh Le Khushi Ke Pal ढूंढ ले ख़ुशी के पल

Dhoondh le khushi ke pal,
Ke zindagi ne tho masroof rakhna hai tujhe,
Jaa jee le yeh pal,
Iss se pehle ke diye bujhe.

Bandh kar akhiyan aur sun apne dil ki,
Jab kuch na tujhe hai sujhe.
Dikhayega sahi rasta tera dil,
Yeh yakeen hai mujhe.

ढूंढ ले ख़ुशी के पल

ढूंढ ले ख़ुशी के पल,
के ज़िन्दगी ने थो मसरूफ रखना है तुझे.
जा जी ले यह पल,
इस से पहले के दिए बुझे.

बंद कर अखियां और सुन अपने दिल की,
जब कुछ न तुझे है सूझे.
दिखायेगा सही रास्ता तेरा दिल,
यह यकीन है मुझे.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 3,030 times

Zara Si Khushi Ki Umeed ज़रा सी ख़ुशी की उम्मीद

मुक्कद्दर में क्या लिखा है,
क्या जानकर करें हम?

तुझसे दूर रहकर थो,
वैसे हे निकले है दम.

ज़रा सी ख़ुशी की उम्मीद की थी,
पर किस्मत में लिखे थे गम.

हाथों पर बन जाये खुशियों की लकीरें,
या फिर ज़िन्दगी हो जाये कम.

Muqaddar mein kya likha,
Kya jaankar karein hum?

Tujhse door rehkar tho,
Waise he nikle hai dum.

Zara se khushi ki umeed ki thi,
Par kismat mein likhe the gum.

Haathon par ban jaye khushiyon ki lakirein,
Ya phir ho jaye
zindagi kum.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 3,038 times