फुलों कि लाली चेहरे पे आ गई

gulsan me haba ke jhonke ne fulon ko lahara diye
titali ke rangeen pankh sajaye mai bhi lahara gayee
kisine balon me ful laga diye
yeise chounk gayee ki fulon ki lali chehare pe
aagayee
गुलशन में हबा के झोंके ने फुलों को लहरा दिए
तितली के रंगीन पंख सजाए मैं भी लहरा गई
किसी ने बालों में फुल लगा दी,
ऐसे चौंक गइ कि फुलों कि लाली चेहरे पे आ गई।
by- विजया शर्मा

This post has been viewed 320 times

कहीं मेरी जान न निकले

रास्ते में चलते चलते उनके ख़यालों में खोने लगे
यहाँ गर मिलगए तो कहीं मेरी जान न निकले।

raste me chalte chalte unke khayalo me khone lage
yahan gar milgaye to kahin meri jaan na nikle.

by- विजया शर्मा

This post has been viewed 1,172 times

पास आकर भी लौट चले

मोहब्बत के दरवाज़े पर कोइ परदा न था
पर उनके दिल में नक़ाब था
वो मेरे नज़दीक होकर भी दूर थे।
हम उनके पास आकर लौट चले।

mohabbat ke darbaje par koe parda na tha
par unke dil me nakab tha
o mere najdik hokar bhi door the
ham unke paas aakar lout chale.

by- विजया शर्मा

This post has been viewed 1,447 times

महक जाते

चमेली फुल हो गए हो
तेरी नज़र लग गइ मुझे
अगर हबा बन जाते तो
तुम्हे छुकर महक जाते।

Chameli ful ho gaye ho
teri najar lag gayi mughe
gar haba ban jate to
tumhe chukar mahak jaate.
by- Vijaya sharma

This post has been viewed 3,111 times

Nahi kehthe tho bhi sun lethi

Nahi kehthe tho bhi sun lethi,
Tumhare dil ki baath samajh lethi,
Aankhe baand kar ke tumhe dekh lethi,
Kashish aapki mehsoos kar lethi.

नहीं कहते तो भी सुन लेती,
तुम्हारे दिल की बात समझ लेती,
आँखें बंद करके तुम्हे देख लेती,
कशिश आपकी महसूस कर लेती.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 4,065 times

कैसे हां में हां कर दूं ?

जो आप सुनना चाहते हैं मैं सिर्फ वही कैसे बोल दूं ।
आकलन विषय का बिना किए , अपने विचार कैसे व्यक्त कर दूं।।

आपने तो बड़ी चालाकी से विषय को मुझे समझाया ।
अपना पक्ष एन केन प्रकारेण न्यायोचित ठहराया ।।

और आप चाहते हैं कि मैं क्षण में आप की हां में हां कर दूं।
और न्याय अन्याय को अनदेखा कर आपकी बात पर सहमति कर दूं ।।

मैं जानता हूं आपका प्यार और अधिकार मुझसे यह सब करवाने के लिए सक्षम है ।
किंतु मेरे विषय ज्ञान और अपनी जवाबदारी का भी तो मुझ पर बंधन है ।।

मैं यह भी जानता हूं कि आपका लक्ष्य किसी को हानि पहुंचाना नहीं है ।
परंतु आप सहमत होंगे कि मेरा सोचना भी गलत नहीं है।।

कृपया मेरी मजबूरी का यू लाभ ना उठाइए।
छोटा हूं , कृपा करें ,,,,,,,,,,,,,,
पाप का भागीदार ना बनाइए ।।।।।।।

By: Alok Billore

This post has been viewed 4,061 times

Kahan se kahan le aayi zindagi

Kuyein se nikalkar khaayi mein,
Tumse bichadkar khoye hum tanhayee mein,
Kahan se kahan le aaye zindagi,
Dhoondhte hai tumhe hum apni
parchayi mein.

कुएं से निकालकर खायी में,
तुमसे बिछड़कर खोये हम तन्हाई में,
कहाँ से कहाँ ले आयी ज़िन्दगी,
ढूंढते है तुम्हे हम अपनी परछाई में.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 3,738 times