Dhoondh Le Khushi Ke Pal ढूंढ ले ख़ुशी के पल

Dhoondh le khushi ke pal,
Ke zindagi ne tho masroof rakhna hai tujhe,
Jaa jee le yeh pal,
Iss se pehle ke diye bujhe.

Bandh kar akhiyan aur sun apne dil ki,
Jab kuch na tujhe hai sujhe.
Dikhayega sahi rasta tera dil,
Yeh yakeen hai mujhe.

ढूंढ ले ख़ुशी के पल

ढूंढ ले ख़ुशी के पल,
के ज़िन्दगी ने थो मसरूफ रखना है तुझे.
जा जी ले यह पल,
इस से पहले के दिए बुझे.

बंद कर अखियां और सुन अपने दिल की,
जब कुछ न तुझे है सूझे.
दिखायेगा सही रास्ता तेरा दिल,
यह यकीन है मुझे.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 2,762 times

पहाडो़ं को चढ़ते चढ़ते…………

ईश्क का मुक़ाम मिला नहीं पहुँचने कि कोशिशें में
हरेक मंज़र बीत गए इन पहाडो़ं को चढ़ते चढ़ते.. ……

isk ka mukam mila nahi pahuchane ki koshishe me
harek manjer biit gaye in pahado ko chadte chadte
by-Vijaya sharma

This post has been viewed 2,413 times

Dil Se Yeh Dard

Kambakhth dil se yeh dard jaatha kyon nahi hai?
Thoda sa sookon dil ko
Miltha kyon nahi hai?

कमबख्त दिलसे यह दर्द
जाता क्यों नहीं है?
थोड़ा सा सुकून दिलको
मिलता क्यों नहीं है?

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 3,043 times

Zara Si Khushi Ki Umeed ज़रा सी ख़ुशी की उम्मीद

मुक्कद्दर में क्या लिखा है,
क्या जानकर करें हम?

तुझसे दूर रहकर थो,
वैसे हे निकले है दम.

ज़रा सी ख़ुशी की उम्मीद की थी,
पर किस्मत में लिखे थे गम.

हाथों पर बन जाये खुशियों की लकीरें,
या फिर ज़िन्दगी हो जाये कम.

Muqaddar mein kya likha,
Kya jaankar karein hum?

Tujhse door rehkar tho,
Waise he nikle hai dum.

Zara se khushi ki umeed ki thi,
Par kismat mein likhe the gum.

Haathon par ban jaye khushiyon ki lakirein,
Ya phir ho jaye
zindagi kum.

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 2,836 times

आदत सी हो गयी ह Aadath Si Ho Gayi Hai

आदत सी हो गयी है

काँटों से निभाना आदत सी हो गयी है,
यह गम सहने की अब आदत सी हो गयी है,
फूलों से डर लगता है हमें,
यादों में भटकने की अब आदत सी हो गयी है.

Kaanton se nibana aadath si ho gayi hai,
Yeh gum sehne ki ab adaath si ho gayi hai,
Phoolon se darr lagtha hai humme,
Yaadon mein bhatakne ki aadath si ho gayi hai.

by-Rosy Chopra

This post has been viewed 2,900 times

भूल न जाना

मुझे कोई एतराज़ नहीं कहीं भी तुम चले जाना
बस इतनी सी बात है वफा का वादा भुल न जाना

mughe koe atraj nahi kahi bhi tum chale jana
bas itni si baat hai bafa ka wada bhul na jana.
by -Vijaya Sharma

This post has been viewed 2,781 times

Zindagi beetha di

Zindagi samajhne ke liye
humne zindagi beetha di,
Aur zindagi samajhne ke liye,
Aage dekhke chalna tha,
Par hum atheeth ko dekhthe reh gaye.
Ab jaana ki hum wahin ke wahin khade reh gaye,
Jabki saare ke saare aage nikal gaye.

ज़िन्दगी बीता दी

ज़िन्दगी समझने के लिए
हमने ज़िन्दगी बीता दी,
और ज़िन्दगी समझने के लिए
आगे देखके चलना था,
पर हम अथीथ को देखते रह गए.
अब जाना के हम वहीँ के वहीँ खड़े रह गए,
जबकि सारे जे सारे आगे निकल गए.

by-Rosy Chopra

This post has been viewed 2,354 times