सीने में नज़र चुभा दी

बग़ल में ख़ंजर तो नहीं उसकी नज़र है तीखी
कुछ बोल न पाए थे सीने में नजर चुभा दी।

bagal me khanjer to nahi uski najar hai teekhi
kuch bol na paye the seene me najar chuva dii.
by – Vijaya Sharma

300x250
Loading Facebook Comments ...

Leave a Comment