पहाडो़ं को चढ़ते चढ़ते…………

ईश्क का मुक़ाम मिला नहीं पहुँचने कि कोशिशें में
हरेक मंज़र बीत गए इन पहाडो़ं को चढ़ते चढ़ते.. ……

isk ka mukam mila nahi pahuchane ki koshishe me
harek manjer biit gaye in pahado ko chadte chadte
by-Vijaya sharma

Loading Facebook Comments ...

Leave a Comment