Zindagi beetha di

Zindagi samajhne ke liye
humne zindagi beetha di,
Aur zindagi samajhne ke liye,
Aage dekhke chalna tha,
Par hum atheeth ko dekhthe reh gaye.
Ab jaana ki hum wahin ke wahin khade reh gaye,
Jabki saare ke saare aage nikal gaye.

ज़िन्दगी बीता दी

ज़िन्दगी समझने के लिए
हमने ज़िन्दगी बीता दी,
और ज़िन्दगी समझने के लिए
आगे देखके चलना था,
पर हम अथीथ को देखते रह गए.
अब जाना के हम वहीँ के वहीँ खड़े रह गए,
जबकि सारे जे सारे आगे निकल गए.

by-Rosy Chopra

This post has been viewed 2,508 times

हर दर्द दवा बन जाता है

जब प्यार किसी से होता है
हर दर्द दवा बन जाता है
क्या चीज मुहब्बत होती है
एक शख्स खुदा बन जाता है
ये लब चाहे खामोश रहें
आँखों से पता चल जाता है
कोई लाख छुपा ले इश्क मगर
दुनिया को पता चल जाता है
जब इश्क का जादू चलता है
सेहरा में फूल खिल जाता है
जब कोई दिवाना मचलता है
तब ताजमहल बन जाता है

This post has been viewed 5,667 times