सपनों में सिर्फ आपको देखता हूँ

बिताए हुए कल में आज को ढूँढता हूँ;
सपनों में सिर्फ आपको देखता हूँ;
क्यों हो गए आप मुझसे दूर, यह सोचता हूँ;
तन्हा, यारों से छुपकर रोता हूँ

This post has been viewed 8,315 times