उसकि बेवफ़ाई

साथ साथ चल न सके बदल दी उसने राहें
वो चलदिए मुस्कुराके हम तमाशा देखते रहे।

saath saath chal na sake badaldee usne rahen
o chaldiye muskurake ham tamashsa dekhte rahe.
by- VijayaSharma
from Nepali Shayari myself

This post has been viewed 3,647 times

Jab saath tha mera जब साथ था मेरा

Tujhe pyaar ki kadar na thi
Jab saath tha mera,
Bichadne ke baad,
Shiddath se intezaar hai mera?

तुझे प्यार की कदर ना थी
जब साथ था मेरा,
बिछड़ने के बाद
शिद्दत से इंतज़ार है मेरा?

By: Rosy Chopra

This post has been viewed 5,266 times

खामोश है हम उनकी खुशी के लिए

दरि़या वफाओ का कभी रूकता नही
महोबबत मे इनसान कभी झुकता नही
खामोश है हम उनकी खुशी के लिए
वो समझते है कि दिल हमारा दुखता ही नही

This post has been viewed 9,714 times