मुझे उससे ईश्क हो गया

मैं वक्त को ढु़ढ़ता रहा वो बहुत दूर चला गया
उसने इन्तजार नहीं किया
सरे बाज़ार मैं कह न सका
मुझे उससे ईश्क हो गया।

mai wait ko dhudata raha
o bahut dur chala gaya
usne intajar nahi kiya
sare bazar mai kaha na saka
mughe usse isk ho gaya

by- Vijaya Sharma

This post has been viewed 830 times

रंग ईश्क का चढ़ गया मुझे

लाल हरा पिले रंगो में उसने अपने को रंग लिया
उसे नज़रों से क्या देखा मैंने
रंग ईश्क का चढ़ गया मुझे
नाम क्या दूँ जान न पाया।

lal hara pile rango me usne apneko rang liya
use nazaro se kya dekha maine
rang isk ka chad gaya mughe
naam kya dun jan na paya

by-Vijaya Sharma

This post has been viewed 861 times

उसने मुझको जान लिया

वो प्यार का अफ़साना था
लब्जों में कहना मुश्किल था
आँखों आँखों से बात हो गई
उसने मुझको जान लिया।

O pyar ka afsana tha
labjo me kahana muskil tha
ankho ankho se bat ho gayi
usne mugh ko jan liya ।

by-Vijaya Sharma

This post has been viewed 907 times

वो मुझे पहचान गई

एक पागल दीवानी लड़की
जैसे सबकुछ भूल गई हो
मैंने हलके से हाथ रखा तो
वो मुझे पहचान गई

ek pagal divani ladaki
jaise sabkucha bhul gayi ho
maine halke se hath rakha to
o mughe pahachan gayi

by Vijaya Sharma

This post has been viewed 1,154 times

मंज़िल तुम्हे मिल जाएगी

किसी को पाकर तो देखो
नक्स बदलेगी जिन्दगी की
नज़रिया बदलके तो देखो
मंजिल तुम्हे मिल जाएगी

kisi ko paker to dekho.Vijaya
naks badalegi jindagi ki
najaria badalke to dekho
manjil tumhe mil jayegi.

by Vijaya Sharma

This post has been viewed 1,199 times

यादें हमें नहीं छोड़ती

कितनी अजीब है वफा कि दास्ताँन
कोई छोड़ जाता है यादें हमें नहीं छोड़ती।

kitani ajib hai bafa ki dastan
koe chod jata hai yaden hame nahi chodti.

by-Vijaya Sharma

This post has been viewed 3,087 times